इंटरनेट पर मौजूद ज्यादातर ट्रैफिक है 'नॉन-ह्यूमन?' जानें Gadget Guy अक्षय से...

    10-Jun-2022
Total Views |

guy4 Image Source: Freepik 
 
नागपुर : आज के इस टेक्नोलॉजी युग में इंटरनेट, स्मार्टफोन और गैजेट्स जहां हमारी जरूरत बन गए हैं। ऐसे में छोटे से छोटे काम के लिए भी हम इंटरनेट पर निर्भर होते जा रहे हैं। चाहे कोई पता ढूंढना हो या फ़ूड आर्डर करना, दोस्तों से बात करनी हो या पढ़ाई। इंटरनेट ने हमारे रोजमर्रा के कामों को बेहद आसान बना दिया है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इंटरनेट हमारे लिए जितना उपयोगी है उतना ही खतरनाक भी है। इसलिए खुद को इंटरनेट पर सुरक्षित रखना बेहद जरूरी हो जाता है। दरअसल, इंटरनेट का इस्तेमाल केवल इंसान ही नहीं करते हैं बल्कि आज इंटरनेट पर मौजूद ज्यादातर ट्रैफिक तो 'नॉन-ह्यूमन' है! चलिए 'Gadget Guy' Akshay' से जानते हैं इंटरनेट पर मौजूद इस 'नॉन-ह्यूमन' ट्रैफिक के बारे में....
 
 
 
अक्षय लामसोगे (Gadget Guy Akshay) बताते हैं कि इंटरनेट पर मौजूद 51% ट्रैफ़िक असल में इंसान नहीं हैं। केवल 9% ट्रैफ़िक ही रियल हुमंस (Real Humans) हैं। इसमें जो 51% ट्रैफिक इंटरनेट पर फिलहाल मौजूद है वो हैकिंग करने, लोगों का डेटा चुराने और स्पैम कॉमेंट करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि, ऐसा बिलकुल नहीं कि पूरा का पूरा 51 प्रतिशत ट्रैफिक खराब या लोगों को नुकसान पहुंचाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इनमें से कुछ प्रतिशत ट्रैफिक का उपयोग वेबसाइट को ट्रैक करने, लोगों की मदद करने आदि कामों के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।
 
लेकिन फिर भी इंटरनेट पर मौजूद इस 'नॉन-ह्यूमन' ट्रैफिक से आपको सावधान रहने की जरूरत है। 'Gadget Guy' Akshay' कहते हैं कि जितना संभव हो उतना इंटरनेट पर सुरक्षित रहने की कोशिश करनी चाहिए। किसी भी अनजान वेबसाइट या लिंक को क्लिक न करें। अपने स्मार्टफोन या गैजेट का कैच (Cached Data) समय-समय पर क्लियर करें। इससे आपका डेटा भी सुरक्षित रहेगा और डिवाइस में वायरस का खतरा भी काम होगा।
 
*Disclaimer : इस खबर में दी गई जानकारी लेखक द्वारा स्वतंत्र रूप से एकत्रित की गई है। इसके लिए अभिजीत भारत किसी भी तरह से बाध्य नहीं है।